Evergreen Beauty Rekha: रेखा की ज़िन्दगी की कहानी

आज है बॉलीवुड की एवरग्रीन ब्यूटी रेखा (Evergreen Beauty Rekha) का जन्मदिन (Rekha Birthday 2019)। आइये जानते हैं उनसे जुड़ी कुछ बातें।

बॉलीवुड की एवरग्रीन ब्यूटी ‘रेखा’ (Evergreen Beauty Rekha) यह नाम किसी पहचान का मोहताज़ नहीं है। रेखा का जन्म 10 अक्टूबर, 1954 में चेन्नई में हुआ था। रेखा के पिता का नाम जैमिनी गणेशन और माँ का नाम पुष्पावल्ली था। इनके माता और पिता दोनों ही अभिनेता और अभिनेत्री थे।
सन 1966 का वो दौर, जब छोटी उम्र में ही रेखा फ़िल्मी दुनिया में कदम रख चुकी थी। हालांकि उनका फिल्मी सफर काफी उतार चढ़ाव भरा रहा। सफर चाहे रील (Rekha Life) का रहा हो या उनकी रियल लाइफ का, रेखा ने कई हादसों को अपनी आंखों से देखा। अपने 50 साल के फिल्मी करियर में 180 से ज्यादा फिल्मों में काम किया है।

रेखा ( Evergreen Beauty Rekha )का रील लाइफ बेहद ही छोटे तौर पर शुरुवात हुई थी। और सबसे पहले रेखा को कुछ B और C ग्रेड फिल्मों में काम करना पड़ा था। फिर भी रेखा ने कभी हालात से समझौता नहीं किया। क्योंकि उन्हें बहुत दूर जाना था।
इसके बाद कहा जाए कि रेखा के फिल्मी करियर की शुरुवात हुई फ़िल्म ‘सावन भादो’ (Film Saavan Bhado) से। यह फिल्म हिट रही और इस फ़िल्म से रेखा को एक नई पहचान मिली।

‘प्राण जाए पर वचन न जाए’ (Film Pran jaaye par vachan na jaaye) इस फ़िल्म का नाम तो आपने सुना ही होगा? यह रेखा के रील लाइफ की वो फ़िल्म थी जिसने धूम मचा दिया था। क्योंकि यह एक ऐसी फिल्म थी जिसके कई सीन में रेखा न्यूड नजर आयी थीं। उस समय के लिए ये बहुत बड़ी बात थी।
इस फ़िल्म के पोस्टर्स आने के बाद ही हर तरफ हंगामा मच गया था। और इसका नतीजा यह था कि दर्शक थिएटर में सिर्फ रेखा को देखने के लिए पहुंचे थे। फिल्म में रेखा तवायफ के रोल में नजर आई थीं। रेखा के तालाब में नहाने और बिना कपड़ों के बाहर आने के सीन ने खूब सुर्खियां बटोरी थी। इस फिल्म को देखने के लिए थियेटर में लंबी लाइन लगी थी।
रेखा ने बिजनेसमैन मुकेश अग्रवाल से शादी की थी। लेकिन शादी के एक साल बाद ही मुकेश अग्रवाल ने सुसाइड कर लिया था।
इसके बाद तो रेखा का नाम की लोगों से जुड़ा। जिसमें अमिताभ बच्चन-रेखा (Amitabh-Rekha Love Story) की प्रेम कहानी आज भी हर किसी की जुबां पर है।

ye bhi padhe: Program of stars


रेखा एक जिंदादिल लेडी हैं, जो है हाल में सिर्फ मुस्कुराना जानती हैं। हर परिस्थिति से लड़ना जानती हैं। आज भी रेखा को आप जब भी देखें होंगे सजी-संवरी ही नज़र आती हैं। वो अपना स्टाइल अपना मेकअप खुद करती हैं, इसीलिए उन्हें ‘एवरग्रीन डीवा‘ (Evergreen Deav) कहा जाता है।
आज भी रेखा (Evergreen Beauty Rekha) अपनी मांग में सिंदूर लगाए नज़र आती हैं, लेकिन वो सिंदूर किसके नाम का लगाती हैं, किसी को मालूम नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *