UP Ballia: नौरंगा ग्राम सभा में कटान रोकने का प्रयास जारी: धनु ठाकुर

UP Ballia: गंगा हर दिन तेज़ी से बढ़ रही है नौरंगा की तरफ. नज़दीक आ गयी है हर किसी के घर के. लोग परेशान हैं, चिंतित हैं. क्योंकि इस बार की आई बाढ़ ने लोगों को यह सोचने पर मजबूर कर दिया है कि क्या बचेगा नौरंगा, या बहा ले जायेंगी गंगा?

बलिया जिले के (UP Ballia) गंगा के तट पर स्थित नौरंगा ग्राम सभा नौरंगा में यूं तो हर साल बाढ़ आती है, लेकिन इस बार की बाढ़ ने लोगों को झकझोर कर रख दिया. किसी को कुछ समझ नहीं आ रहा था तब तक बाढ़ का कहर इस क़दर टूटा कि कई लोगों का खेत, घर सब कुछ बह गया.

ये भी पढ़ें: रिश्ते में तो हम तुम्हारा बाप लगते हैं

UP Ballia
Ganga River Ballia

ये भी पढ़ें: रेखा की सुन्दरता बेमिसाल है

इसी परेशानी और चिंता की वज़ह से कल नौरंगा ग्राम सभा के सभी लोगों ने कटान रोकने का भरपूर प्रयास किया है. नौरंगा ग्राम सभा (UP Ballia) के युवा धनु ठाकुर ने 5minutes news से बातचीत करते हुए कहा कि सभी ग्रामवासियों ने गंगा के कटान को रोकने के लिए अपना-अपना सहयोग दिया.

आगे धनु ठाकुर ने बताया कि जिस तरह से गंगा हर दिन हमारे गाँव की तरफ बढ़ रही हैं, हम सभी चिंतित हैं अपने आने वाले भविष्य को लेकर. इसलिए हम गंगा के कटान को रोकने की भरपूर कोशिश में लगे हुए हैं और हम चाहते हैं कि गंगा के इस कटान को और बढ़ने से रोका जाए.

आपको बता दें कि इस साल बलिया द्वाबा (UP Ballia) में आई भयंकर बाढ़ ने लोगों का जनजीवन अस्त-वयस्त कर के रख दिया. आई भयंकर बाढ़ ने लोगों को सोचने पर मजबूर कर दिया कि हमारा भविष्य कहीं अँधेरे में तो नहीं जा रहा है? इस ग्राम सभा के लोग उम्मीद लगा के बैठे थे कि सरकार की तरफ से कुछ बड़ा कदम उठाया जाएगा. पर ऐसा नहीं हुआ.

जब यहाँ के लोगों ने दूसरों से मदद की उम्मीदें छोड़ दी तो अपनी सुरक्षा और अपने भविष्य की जिम्मेवारी इन लोगों ने खुद अपने कन्धों पर ले लिया और आप तस्वीरों में साफ़ देख सकते हैं कि किस तरह लोग कटान को रोकने के लिए भरपूर प्रयास में लगे हुए हैं.

आपको बता दें कि आज़ादी के इतने साल बाद भी इस ग्राम सभा में अभी तक विकास के लिए कुछ ख़ास प्रयास सरकार की तरफ से नहीं किया गया है. हर बार सरकार की तरफ से वादे किये जाते हैं. चुनाव आते ही लोलोगों की आँखों में उम्मीदों के सपने भर दिए जाते हैं. लेकिन जैसे ही चुनाव खतम होता है यह गाँव हमेशा की तरह अपनी परिस्थिति पर रोता है.

लेकिन इस बार इस ग्राम सभा के लोगों ने ठान लिया है कि अब हम किसी के उम्मीदों के सहारे नहीं बैठेंगे. हम अपनी ज़िंदगी और अपने भविष्य की जिम्मेवारी खुद अपने कन्धों पर उठा रहे हैं और लोगों की यही सोच ने गंगा कटान को रोकने के लिए प्रेरति किया.

अब देखना यह है कि लोगों का यह प्रयास कितना कामयाब होता है. लेकिन नौरंगा ग्राम सभा के लोगों के इस शाहस और जूनून की 5minutesnews तारीफ़ करता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *